18 मई को खुलेंगे बदरीनाथ धाम के कपाट, टिहरी राज दरबार में तय हुई तारीख

देश के प्रसिद्ध चार धामों में से एक श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खोलने की तिथि तय कर दी गई है। 18 मई को ब्रह्म बेला में प्रातः 4 बजकर 15 मिनट पर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जाएंगे।

गोपेश्वर। देश के प्रसिद्ध चार धामों में से एक श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खोलने की तिथि तय कर दी गई है। 18 मई को ब्रह्म बेला में प्रातः 4 बजकर 15 मिनट पर श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए जाएंगे। आज बसंत पंचमी के धार्मिक महोत्सव पर नरेंद्र नगर स्थित टिहरी राज दरबार में टेहरी नरेश महाराजा मनुजेंद्र शाह ने पारंपरिक तौर पर धाम के कपाट खुलने की विधिवत घोषणा की।

इससे पहले राज दरबार में गणेश और पंचांग पूजा के साथ भगवान श्री बदरी विशाल का आवाहन किया गया, जबकि श्री बदरीनाथ धाम का तेल कलश डिमरी पुजारियों ने नरेंद्र नगर राजदरबार पहुंचा दिया है। कपाट खुलने की तिथि तय करने के साथ ही भगवान श्री बदरी विशाल के नित्य प्रति अभिषेक में प्रयुक्त होने वाले तिलों के तेल को पिरोने की तिथि भी निश्चित कर दी गई है।

राज दरबार में ही महारानी और अन्य सुहागिन महिलाओं के भगवान बदरी विशाल के अभिषेक के लिए तिलों का तेल पिरोकर तेल कलश में भरा जाएगा। यही तेल कलश नरेंद्र नगर से बदरीनाथ दाम पहुंचेगा और यात्रा काल में इसमें भरे हुए तिलों के तेल से भगवान का अभिषेक होगा।

इस अवसर पर राज दरबार नरेंद्र नगर में बदरीनाथ धाम के रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरीपाद, डिमरी पंचायत के पदाधिकारी, सांसद तीरथ रावत, धर्माधिकारी भुवन उनियाल, देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यधिकारी बीड़ी सिंह, चारधाम के उपाध्यक्ष जेपी ममगाईं, पूर्व मंत्री मोहन सिंह गांववासी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।