रुड़की में किसानों ने रेलवे ट्रैक पर दिया धरना, जमकर की नारेबाजी

किसानों की ओर से कृषि कानूनों के खिलाफ गुरुवार को रुड़की रेलवे स्टेशन पर रेलवे ट्रैक जाम किया गया। इस दौरान पुलिस और किसानों के बीच नौकझोंक भी है। रेल रोको की रणनीति के तहत कुछ किसान मंगलूर गुड मंडी पर एकत्र हुए ।

रुड़की। तीन कृषि कानून के विरोध में भारतीय किसान यूनियन, उत्तराखंड किसान मोर्चा, अखिल भारतीय किसान यूनियन और किसान कामगार मोर्चा की ओर से रुड़की रेलवे स्टेशन पर धरना दिया गया। जब किसान रेलवे ट्रैक की ओर बढ़ रहे थे तभी पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की। इस बात को लेकर किसानों व पुलिसकर्मियों के बीच जमकर नोकझोंक हुई। किसी तरह से पुलिस अधिकारियों ने किसानों को मनाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने इसके बाद किसान एक नंबर प्लेटफार्म पर पहुंचे और रेलवे ट्रैक पर पहुंचकर धरना शुरू कर दिया।

इस मौके पर उत्तराखंड किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष गुलशन रोड ने कहा कि सरकार किसानों के धैर्य की परीक्षा ले रही है। तीनों कृषि कानून का पूरे देश में विरोध हो रहा है। इसके बावजूद सरकार कानून वापस नहीं ले रही है। सरकार को चाहिए कि तत्काल कानून वापस ले। भाकियू के गढ़वाल मंडल अध्यक्ष संजय चौधरी ने कहा कि किसान अब किसी भी सूरत में कदम वापस नहीं खींचेंगे। सरकार को यह कानून वापस लेना होगा।

इस मौके पर किसान मजदूर संगठन के प्रदेश अध्यक्ष पदम सिंह भाटी, रवि चौधरी, कार सिंह आदि मौजूद रहे। करीब घंटा भर रेलवे ट्रैक पर रहने के बाद किसानों ने नायब तहसीलदार को अपनी मांगों के संबंध में ज्ञापन दिया। इस दौरान एसपी देहात परमिंदर डोभाल एसपी जीआरपी मनोज आदि मौजूद रहे।

क्या आपने यह देखा