मुरादाबाद ज‍िला अस्‍पताल में मेडिकल कराने आया अभियुक्त फरार, पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ा

जिला अस्पताल में मेडिकल के दौरान एक अभियुक्त पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। अभियुक्त के भागने की भनक लगते ही पुलिस कर्मियों के होश फाख्ता हो गए। राहत की बात यह रही कि आरोपित को पुलिस ने दोबारा दबोच लिया।

मुरादाबाद। जिला अस्पताल में मेडिकल के दौरान एक अभियुक्त पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। अभियुक्त के भागने की भनक लगते ही पुलिस कर्मियों के होश फाख्ता हो गए। राहत की बात यह रही कि कुछ ही देर में आर्मस एक्ट के आरोपित को पुलिस ने दोबारा दबोच लिया। वाकये से देर तक पुलिस कर्मी व अफसर हलकान रहे। 

गलशहीद पुलिस ने पक्की सराय के रहने वाले अफजल को चाकू समेत गिरफ्तार किया था। आरोपित के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत अभियोग पंजीकृत करने के बाद पुलिस उसे जेल भेजने की तैयारी कर रही थी। मेडिकल के लिए अभियुक्त को थाने से जिला अस्पताल लाया गया। अभियुक्त की निगरानी में दो पुलिस कर्मी तैनात रहे। अस्पताल में भीड़ की वजह से पुलिस कर्मी अपने नंबर की प्रतीक्षा करने लगे। इस बीच अफजल पुलिस कर्मियों की आंख में धूल झोंक फरार हो गया। इसका अहसास पुलिस कर्मियों को तब हुआ, जब अफजाल का मेडिकल कराने का नंबर आया। तब तक अफजल जिला अस्पताल से रफूचक्कर हो चुका था। अफजल को गायब पाकर पुलिस कर्मियों के होश उड़ गए। पुलिस कर्मी तलाश में जुटे। पूछताछ में पता चला कि अफजल कचहरी की ओर भागा है। पुलिस कर्मी कचहरी की ओर बढ़े। राहत की बात यह रही कि कमिश्नरी कार्यालय के पास अफजल दोबारा दबोच लिया गया। उसे दोबारा जिला अस्पताल लाया गया। मेडिकल बाद अफजल को कोर्ट में पेश किया गया। घटना के बावत थाना प्रभारी कपिल कुमार ने बताया कि आर्म्स एक्ट के आरोपित अफजल ने भागने की कोशिश की थी। पुलिस कर्मियों ने उसे दोबारा दबोच लिया। आरोपित को कोर्ट ने जेल भेज दिया है।

अभियुक्तों की पेशी को लेकर पुलिस कर्मियों की लापरवाही खत्म होने का नाम नहीं ले रही। ऐसे हालात तब हैं, जब मुरादाबाद में पुलिस की आंख में धूल झोंक कर अपराधी पहले भी भाग चुके हैं। गलशहीद पुलिस की लापरवाही और चूक से पुलिस अधिकारी पूरे दिन बेचैन रहे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने प्रकरण में पुलिस कर्मियों की भूमिका की जांच कराने का आदेश दिया है।

क्या आपने यह देखा