काशीपुर में बड़े बाइक लिफ्टर गैंग का खुलासा, चोरी की 14 बाइकों के साथ तीन मैकेनिक समेत छह गिरफ्तार

काशीपुर में कोतवाली पुलिस ने बड़े बाइक लिफ्टर गैंग का पर्दाफाश किया है। तीन बाइक मैकेनिक अपने चार अन्य साथियों के साथ मिलकर बाइक चोर गिरोह चला रहे थे। पुलिस ने छह आरोपितों को गिरफ्तार कर उनके पास से 14 बाइक बरामद की गई हैं।

काशीपुर| काशीपुर में कोतवाली पुलिस ने बड़े बाइक लिफ्टर गैंग का पर्दाफाश किया है। तीन बाइक मैकेनिक अपने चार अन्य साथियों के साथ मिलकर बाइक चोर गिरोह चला रहे थे। पुलिस ने छह आरोपितों को गिरफ्तार कर उनके पास से 14 बाइक बरामद की गई हैं। एक आरोपित फरार है, जिसकी तलाश की जा रही है। आरोपित बीते छह महीने से काशीपुर और आसपास के क्षेत्र से बाइक चोरी कर उनको मॉडिफाई करने के बाद यूपी के रामपुर ले जाकर बेचने का काम कर रहे थे।

सोमवार को अपर पुलिस अधीक्षक काशीपुर प्रमोद कुमार ने कोतवाली में पत्रकारों से वार्ता करते हुए बाइक चोरी करने वाले इस गिरोह का पर्दाफाश किया। उन्होंने बताया कि बीते कुछ दिनों से काशीपुर क्षेत्र में बाइक चोरी की घटनाएं काफी बढ़ गई थी। इसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुमार के निर्देश पर कोतवाली पुलिस की एक टीम घटनाओं के खुलासे के लिए लगाई गई। इसी के तहत रविवार शाम को तीन आरोपितों को चोरी की दो बाइकों समेत गिरफ्तार किया गया।

आरोपितों को कोतवाली लाकर पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि जिले में रुद्रपुर, आईटीआई, गदरपुर, केलाखेड़ा से भी उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर मोटरसाइकिल चोरी की है। चोरी करने के बाद वह मोटरसाइकिल अपने तीन मैकेनिक साथियों को देते थे। मैकेनिक मोटर साइकिल को मॉडिफाई करके उनके पार्ट्स निकालकर आगे अन्य लोगों को बेचकर पैसा कमाते थे। आरोपितों की निशानदेही पर कोतवाली पुलिस ने स्वार रामपुर के गांव सीतारामपुर की कोसी नदी के किनारे झाड़ियों से 12 मोटरसाइकिल बरामद की।

मौके से पुलिस ने तीन अन्य आरोपितों को भी गिरफ्तार कर लिया। मामले में कुल 14 मोटरसाइकिलें बरामद की गई हैं और 6 आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपित एक संगठित गिरोह बनाकर काफी समय से काशीपुर व जिले में चोरी की घटनाएं कर रहे थे। आरोपितों पर गैंगस्टर भी लगाया जाएगा। पुलिस उनका आपराधिक इतिहास खंगाल रही है। मामले का खुलासा करने वाली टीम को एसएसपी दलीप सिंह कुंबर की ओर से ढाई हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा की गई है।

एसपी ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों में प्रकाश पुत्र ईश्वर निवासी वार्ड नंबर 9 मसवासी थाना स्वार जिला रामपुर, गजेंद्र पुत्र भगवानदास निवासी ग्राम मिलक नौकरी थाना स्वार जिला रामपुर, अर्पित पुत्र कृष्ण अवतार निवासी ग्राम सगरा थाना स्वार जिला रामपुर, पवन पुत्र सुरेश निवासी सीतारामपुर थाना स्वार जिला रामपुर, अंकुश पुत्र नरेश निवासी ग्राम सीतारामपुर थाना स्वार, अर्जुन सिंह पुत्र गोविंद सिंह निवासी ग्राम सीतारामपुर थाना स्वार शामिल है। उन्होंने बताया कि प्रकाश, गजेंद्र और अर्पित तीनों मोटरसाइकिल मैकेनिक हैं। चोरी की बाइकों को यह लोग मॉडिफाई करके बेचने का काम करते थे। घटना में शामिल एक अन्य आरोपी सोनू कश्यप पुत्र अमर सिंह निवासी भूबरा थाना स्वार जिला रामपुर अभी फरार है। आरोपी की तलाश की जा रही है।

घटना का खुलासा करने वाली टीम में इंस्पेक्टर कोतवाली संजय पाठक, एसएसआई कोतवाली देवेंद्र गौरव, एसआई संजीव कुमार, एसआई ओम प्रकाश, एसआई अशोक फर्त्याल, एसआई जितेंद्र कुमार, एसआई दीपक कौशिक, एसआई रविंद्र सिंह बिष्ट, कांस्टेबल जगमोहन, कुलदीप, अनुज त्यागी, नरेंद्र मेहता, महेंद्र डंगवाल आदि शामिल रहे। इंस्पेक्टर संजय पाठक ने बताया कि संबंधित बाइक स्वामियों की तलाश की जा रही है। गिरोह का सरगना पवन है। आरोपितों की दुकान रामपुर के स्वर में ही हैं। पकड़ी गई बाइकों में 6 काशीपुर, एक केलाखेड़ा, एक गदरपुर और एक आईटीआई थाना क्षेत्र से चोरी की गई थी।

क्या आपने यह देखा