कुंभ:उत्तराखंड पुलिस करेगी नई पहल, चलाएगी ‘भिक्षा नहीं शिक्षा दो अभियान’

हरिद्वार कुंभ के दौरान पुलिस ‘भिक्षा नहीं शिक्षा दो’ अभियान चलाएगी। इसमें बच्चों की भीख मांगने की प्रवृत्ति पर रोक लगाने के लिए प्रयास किए  जाएंगे। बच्चों द्वारा भीख मांगने की प्रवृत्ति के खिलाफ पुलिस पहले से ही ऑपरेशन मुक्ति चला रही है। इसी तर्ज पर हरिद्वार कुंभ के दौरान पुलिस एक मार्च से 30 अप्रैल के बीच ‘भिक्षा नहीं-शिक्षा दो’ के नारे से इस अभियान को चलाएगी। डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि अभियान के तहत देहरादून, हरिद्वार, यूएसनगर, नैनीताल जैसे बड़े जनपदों में एक एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट सहित चार टीमें नियुक्त की जाएगी।

शेष जनपदों में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट द्वारा उक्त अभियान को चलाया जाएगा। प्रत्येक टीम मे एक महिला कर्मी भी नियुक्त होगी। अभियान का फोकस कुंभ क्षेत्र होगा। प्रथम चरण में एकसे 15 मार्च तक भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चों और उनके परिजनों का विवरण तैयार बच्चों का स्कूल में दाखिला कराया जाएगा। 16 से 31 मार्च तक के दूसरे चरण में सार्वजनिक स्थानों, महत्वपूर्ण चौराहों, सिनेमाघरों, बस व रेलवे स्टेशनों, धार्मिक स्थलों सहित सम्पूर्ण कुंभ क्षेत्र में बच्चों को भिक्षा न दिये जाने को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।

भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चों के परिजनों को भिक्षावृत्ति न करने ओर उनके कौशल विकास पर ध्यान दिया जाएगा। एक से 30 अप्रैल तक के तीसरे चरण में भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चों को भिक्षावृत्ति से हटाकर उनकी एवं उनके परिजनों की काउंसलिंग की जाएगी। बच्चों के फिर भिक्षावृत्ति में लिप्त पाये जाने पर परिजनों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी, संदेह होने पर डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा।