असम में बोले राहुल गांधी- चाहे कुछ भी हो हम CAA को कभी लागू नहीं होने देंगे

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस कमजोर लोगों छोटे व्यापारियों मजदूरों की पार्टी है। जब हम सत्ता में आएंगे तो एक चीज होगा जो नफरत फैलाई जा रही है वो खत्म होगी। हम सब धर्म और जाति के लोगों की रक्षा करेंगे।

भाजपा और आरएसएस पर असम को विभाजित करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि उनकी पार्टी असम समझौते के हर सिद्धांत की रक्षा करेगी और सत्ता में आने के बाद नागरिकता (संशोधन) अधिनियम को कभी भी लागू नहीं होने देगी। मार्च-अप्रैल में होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले असम में अपनी पहली सार्वजनिक रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि राज्य को ऐसे मुख्यमंत्री की जरूरत हो, जो लोगों की आवाज को सुने, न कि केवल नागपुर और दिल्ली की।

असम को दुनिया की कोई ताकत नहीं तोड़ सकती। जो असम कोड को छूने की कोशिश करेगा, जो असम को बांटने की कोशिश करेगा, उसको असम की जनता और कांग्रेस पार्टी मिल कर सबक सिखायेगी। जब हम असम में सरकार में आयेंगे तो बदलाव देखने को मिलेगा। जो नफरत फैलाई जा रही है, वह खत्म हो जायेगी। हम हर धर्म, जाति और हर व्यक्ति की रक्षा करेंगे। हमारे युवाओं को रोजगार देंगे।

राहुल गांधी ने कहा कि हिंदुस्तान की सरकार ने तरुण गोगोई जी का और इस प्रदेश का अपमान किया है। असम की जनता में वो क्षमता है कि अवैध प्रवास के मुद्दे को मिलकर सुलझाया जा सकता है। अगर यह प्रदेश फिर से बंट गया, जो बीजेपी और आरएसएस रोज करते हैं तो असम का नुकसान होगा। उन्होंने कहा कि असम का सबसे बड़ा मुद्दा रोजगार है। असम का युवा जानता है कि बीजेपी सरकार में रोजगार नहीं मिलेगा। नरेंद्र मोदी खेती को खत्म करने के लिए तीन कृषि कानून लाए हैं। 

क्या आपने यह देखा