नैनीताल झील में छलांग लगाकर की आत्महत्या, एक घंटे सर्च के बाद पुलिस ने शव बरामद किया

नैनीताल में एक व्यक्ति एक व्यक्ति ने सोमवार की सुबह नैनी झील में छलांग लगा दी। खबर फैलने पर मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। सूचना पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद सर्च कर उसका शव झील से निकाला।

नैनीताल| नैनीताल में बुजुर्ग ने सोमवार की सुबह नैनी झील में छलांग लगा दी। खबर फैलने पर मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई। सूचना पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम ने करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद सर्च कर उसका शव झील से निकाला। शव की शिनाख्त हो गई है। उसकी पहचान मूल रूप से लद्दाख के कारगिल व हाल कृष्णपुर तल्लीताल निवासी फिदा हुसैन के रूप में हुई है। उसके परिवार का कोई नहीं होने की वजह से मकान मालिक के परिवार के लोगों को बुलाया गया है।

सोमवार सुबह करीब साढ़े सात बजे मॉर्निंग वॉक पर निकले दो लोगों ने एक व्यक्ति ठंडी सड़क क्षेत्र में पाषाण देवी मंदिर के समीप एक व्यक्ति को झील में छलांग लगाते देखा तो तत्काल इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दी। कोतवाल अशोक कुमार ने तल्लीताल थाना क्षेत्र होने की वजह से तल्लीताल थाना पुलिस को इत्तला दी। जिसके बाद एसओ विजय मेहता ने पुलिस व दमकल विभाग के जवानों को मौके पर भेजा। कॉन्स्टेबल विनोद यादव के नेतृत्व में सर्च अभियान चलाया गया। एसओ ने बताया कि शव की शिनाख्त हो गई है।

पुलिस के अनुसार मृतक की पेंट की जेब से मिले आधार कार्ड के अनुसार उसकी पहचान करीब 75 वर्षीय फिदा हुसैन निवासी तल्ला कृष्णापुर के रूप में हुई है। बताया जाता है कि वह भूपाल सिंह के मकान में रहता था। पुलिस की पड़ताल में पता चला है कि मृतक करीब तीन दशक पहले से नैनीताल में अकेला रहता था। वह केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के कारगिल का निवासी था। उसके परिवार में कोई नहीं है। कोतवाली के एसएसआई कश्मीर सिंह समेत अन्य ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा की कार्रवाई शुरू कर दी है। साथ ही मकान मालिक के परिजनों को बुलाया गया है।